🕯
🎻आज निकला हैं, फिर से चाँद अमावस्या में कही
रोशन ये आसमां यू ही तो नही

✨भड़क उठी हैं चिंगारी दबी सिने में कही
ये दिल धड़कनो से यू ही बागी तो नही…

Aaj nikla hai, fir se chand awamasya mai kahi
Roshan ye asama, yu hi to nahi

Bhadak uthi hai, chingari dabi sene mai kahi
Ye dil dharkano se, yu hi baagi to nahi. ..

लेखन द्वारा✍विक्रांत राजलीवाल। view on tumblrFB_IMG_1497960667089

Advertisements

Leave a Reply