अच्छा पढ़े, दिल से पढ़े और अपने लिए पढ़े क्यों कि…
शुद्ध और सच्चें विचार कर देते है दूर सब मनोविकार।
लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।

A Thought.

Read well, read from heart and read for yourself because …
Pure and accurate thoughts give away all the psychoanalysis.
Written by Vikrant Rajliwal

Advertisements

Leave a Reply