मेरे द्वारा लिखी गयी मेरी प्रथम पुस्तक एहसास जिसका केंद्र बिंदु समाज के असमाजिक पहलुओ पर आप सबका ध्यान आकर्षित करना, आपको सावधान करना। प्रथम प्रयास, प्रथम पुस्तक एहसास से प्रथम कविता से प्रथम एव अंतिम पृष्ट… आपके लिए, आपके समुख।

धन्यवाद।

लेखक विक्रांत राजलीवाल।

(Published on jan 2016 in Delhi world book fair, Published by sanjog publication^SP Publications^)

Advertisements

Leave a Reply