नमस्कार प्यारे पाठको,

आज आप से अपने मन की बात सांझा करना चाहूंगा! अगर आपको रचनाकार एव लेखक श्री विक्रान्त राजलीवाल जी के द्वारा रचित एव लिखित किसी भी विषय से चाहे वह विषय समाजिक हो, राजनीतिक हो या कविता-शायरी से सम्बंधित हो कोई भी शिकायत या त्रुटि का अभ्यास हो तो आप संदेशक या कमेंट्स के जरिए अपने मन की बात उन तक पहुचा सकते है।

यहां आपकी हर शिकायत को मन से अपने दिल से सुना एव उसका समाधान किया जाएगा।

धन्यवाद!

आपका अपना रचनाकार एव लेखक विक्रान्त राजलीवाला।20171104_191339

Advertisements

Leave a Reply