FB_IMG_1511066541673एक मजबूत कदम स्वच्छता की ओर मजबूती से!!! आज निकलेगा सूर्य प्रकाश के साथ, स्वच्छ हवा निर्मल वातावरण, हक है जन मानस का, एक अपना टॉयलेट।

बदलाव जरूरी है जीवन मे जीवन के लिए। हक है भाव निजता का भाव अपने और अपनों के स्वाभिमान के लिए।
स्वच्छ भारत!!!अपना भारत।

जय हिंद।

रचनाकार एव लेखक विक्रांत राजलीवाल। द्वारा लिखित

Advertisements

Leave a Reply