प्रथम पुस्तक एहसास से विक्रांत राजलीवाल जी के द्वारा लिखित चन्द संवेदनशील समाजिक विषयो पर आधारित कविताओ के रूप में एक दर्द, से चंद पृष्ठ !

प्रथम प्रकाशित पुस्तक जिसका केंद्र-बिंदु हमारे मानव ह्रदय से समाजिक एव मानवता की भावना के कठोर होते भाव-व्यवहार पर अपनी कविताओं के द्वारा एक प्रहार की कोशिश मात्र है।

प्रकाशित समय जनवरी 2016 दिल्ली विश्व पुस्तक मेला/ संजोग प्रकाशन एव aroo publication शाहदरा पूर्वी दिल्ली द्वारा प्रकाशित।

रचनाकार/लेखक एव कवि विक्रांत राजलीवाल। द्वारा लिखित।

उम्मीद है आपको पसंद आए।

आगामी पुस्तके दर्द भरी नज्म-शायरी रूपी अधूरी महोबतकी अधूरी दस्ताने एव एक अत्यंत दर्द भरा उपन्यास संवाद के साथ

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।
(स्वतन्त्र लेखन)

Ahsaas with upcoming book of painful & unsuccessful love issues.

And first Novel based on family, friendship, love triangle pain and lots of drama.(coming soon)

Written by Athour & Writer Vikrant Rajliwal.

Advertisements

Leave a Reply