Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal Creation's -स्वतंत्र लेखक-

काव्य-नज़्म, ग़ज़ल-गीत, व्यंग्य-किस्से, नाटक-कहानी-विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।-स्वतंत्र लेखक-

नारी शशक्तिकरण। (प्रथम प्रकाशित पयस्तक एहसास से।) प्रथम प्रकाशित पुस्तक जिसका केंद्र-बिंदु हमारे मानव ह्रदय से समाजिक एव मानवता की भावना के कठोर होते भाव-व्यवहार पर अपनी कविताओं के द्वारा एक प्रहार की कोशिश मात्र है। प्रकाशित समय जनवरी 2016 दिल्ली विश्व पुस्तक मेला/ संजोग प्रकाशन एव aroo publication शाहदरा पूर्वी दिल्ली द्वारा प्रकाशित। रचनाकार/लेखक एव कवि विक्रांत राजलीवाल। द्वारा लिखित।

Mar 8, 2018


Leave a Reply

Required fields are marked *.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: