Author, Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal

Poetry, Shayari, Gazal, Satire, drama & Articles Written by Vikrant Rajliwal

August 22, 2018
Author, Writer, Poet And Dramatist Vikrant Rajliwal

3 comments

कवि समेलन एव मुशायरा। (only for charity)

🌹 कवि सम्मेलन एव मुशायरा करने के लिए आज ही सम्पर्क करें, रचनाकार एव कवि शायर विक्रांत राजलीवाल द्वारा संचालित।✒

🙏नमस्कार मेरे प्रिय प्रियजनों,

❤आप मेरे यानी रचनाकार एव कवि,शायर, नज़्मकार, ग़ज़लकार, नाटककार एव कहानीकार 20180822_072849.pngविक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित मेरी तमाम रचनाओं से मेरा कवि सम्मेलन एव मुशायरा बुक कर सकते है। आप मुझ से 24 घँटे में कभी भी निसंकोच सम्पर्क पर सकते है।

आप मेरी रचनाओ एव पाठन कला की एक छोटी सी झलक के साथ मेरे युरयूब चैंनल Author Vikrant Rajliwal पर उन्हें सुन एव देख कर आनन्द लुफ्त भी उठा सकते है।
मेरे यूट्यूब चेंनल Author Vikrant Rajliwal का यूरल पता है।

👉 https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A 💖💖🙏✌👍👍

👉 साथ ही आप मेरे कई राष्ट्रीय एव अन्तर्राष्टीय ब्लॉग साइट्स पर 350+काव्य नज़्म रचनाए एव कई दर्जन समाजिक राजनीतिक एव मानवतावादी विस्तृत लेख एव विचार भी पढ़ सकते है जिन्हें जल्द ही बिना किसी तंकन त्रुटि के एक पुस्तक के रूप में आप सभी परिजनों के समक्ष प्रस्तुत कर दिया जाएगा।

👉 मेरे ब्लॉग साइट्स का पता नीचे अंकित है।

1) vikrantrajliwal.wordpress.com

2) vikrantrajliwal.blogspot.com

3) @Vikrantrajliwal1985 tumblr.com

👉 इसके साथ ही आप मेरी प्रथम प्रकाशित अति संवेदनशील समाजिक एव मानवता कि भावनाओ से प्रेरित मुददों पर कविताओ की पुस्तक एहसास है जिसे आप संजोग प्रकाशन शहादरा वाले से प्राप्त कर सकते है जिसे मेने विद्यार्थी काल में लिखा एव प्रकाशित करवाया है।
प्रकाशित समय जनवरी 2016 दिल्ली विश्वपुस्तक मेला, संजोग प्रकाशन शाहदरा द्वारा प्रकाशित है।

👉1) इसके साथ ही मेरी आगामी पुस्तके है प्रथम मेरे द्वारा लिखी गयी बेहद विस्तृत दर्द भरी महोबत कि नज़्म शायरी के रूप में महोबत कि दर्द भरी दास्ताने।

(जिन्हें अभी तक मेने अपनी किसी भी राष्टीय एव अंतरराष्ट्रीय ब्लॉग साइट्स पर प्रकाशित नही किया है।)

2) दूसरी अब तक का मेरी तमाम रचनाओ का संग्रह।

3) तीसरी जो कि मेरा प्रथम विस्तृत दर्द भरा पारिवारिक उत्तर चढ़ाव एव प्रेम प्रसंगों के साथ ज़िंदगी के हर रूप को अंकित करता एक दर्द भरा रोमांचक नाटक।

एक आशा एक उम्मीद है कि मैं विक्रांत राजलीवाल आप सभी प्रियजनों कि आशा उम्मीद पर खरा उतर सकूँ।

👉 रचनाकार एव कवि-शायर विक्रांत राजलीवाल।

❤मुशायरा एव कवि सम्मेलन बुक करने के लिए मेरा सम्पर्क सूत्र नीचे अंकित है।👇👇👇

पता: गली न 1, मकान न A 47 हरित विहार(पेप्सी रॉड) बुराड़ी 84 (Rajliwal house)

धन्यवाद।

रचनाकार एव लेखक, कवि शायर, नज़्मकार, ग़ज़लकार एव नाटककार श्री विक्रान्त राजलीवाल।

3 thoughts on “कवि समेलन एव मुशायरा। (only for charity)

  1. One of the best ways to promote a product on the world
    wide web would be Strategic Web site. Researching your
    niche first is firstly paramount for ones success world wide web. http://makhachkala.novayaspravka.ru/go.php?url=http%3A%2F%2Ffjb.m.kaskus.co.id%2Fredirect%3Furl%3Dhttp%3A%2F%2F918.credit%2Fdownloads%2F87-download-3win8

    Liked by 1 person

  2. This will keep you occupied even though your mind away from selfish and impure reactions.
    Rest at home and consume it easy to obtain a little despite.
    Two weeks ago we hiked up Moose Mountain in Bragg Creek, Alberta. http://clerk.seattle.gov/~scripts/nph-brs.exe?S1=calhoun&S2=&S3=&l=20&Sect7=THUMBON&Sect6=HITOFF&Sect5=PHOT1&Sect4=AND&Sect3=PLURON&d=PHO2&p=1&u=https%3A%2F%2Fwin88.today%2Flpe88%2F&r=2&f=G

    Liked by 1 person

Leave a Reply to 3win8 reg Cancel reply

Required fields are marked *.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: