दर्द ए दिल, दिल कि गहराइयो से दर्द झलक जाता है।
FB_IMG_1539446228018
लाख छुपाए आह ए दिल ए दिल,

सितम ये धड़कनों का धड़कनो पर सब को पता चल जाता है।।

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।
(पुनः प्रकाशित)

Advertisements

Leave a Reply