Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal Creation's -स्वतंत्र लेखक-

काव्य-नज़्म, ग़ज़ल-गीत, व्यंग्य-किस्से, नाटक-कहानी-विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।-स्वतंत्र लेखक-

Feb 23, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

🕯💦 ह्रदय एहसास

🕯14 फरवरी 2019 के दिन भारतवर्ष पर हुए अत्यधिक क्रूर आतंकी हमले में शहीद जवानों को नमन है। जीवन के दर्द प्रत्येक दिन एक अलग रूप में अपने होने का एहसास करवाते है। पीड़ा के इन्ही भावो से पीड़ित कुछ एहसास विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

🕯 On February 14, 2019, there is a bow of martyr soldiers in the highly brutal terrorist attack on India. The pain of life is realized each day in a different form. Written by Vikrant Rajaliwal, a few real feelings of suffering from these same problems (Translated)

🇮🇳 कर गए नाम वतन का अमर, हो कर शहीद वतन पर वीर वो अपने।

आतंक के तोड़ने को हौसले, छोड़ गए सांस आखरी वतन पर वीर वो अपनी।।

21/02/2019 at16:12pm(पुनः प्रकाशित प्रथम भूलवश डिलीट हो जाने के उपरान्त,23/02/2019 at19:48 )
🇮🇳Kar gye naam vatan ka amar, ho kar shahid vatan par veer wo apane.

Atank ke todane ko hosh le, chord gye sanss aakhari vatan par balveer wo apani..

Watch “Ek Sham Pulwama Shahidon Ke Naam (विक्रांत राजलीवाल द्वारा।)” on YouTube https://youtu.be/p7bgSvfGKJU

💦हर खेल ज़िंदगी का एक हादसा बन गया है मेरा।

हर हादसे से जान ज़िंदगी की निकलने लगी है मेरी।।
21/02/2019 at 16:12am (पुनः प्रकाशित प्रथम भूलवश डिलीट हो जाने के उपरांत)IMG_20190220_184904_180
💦 Har khel zindagi ka ek hadsa ban gya hai mera.
Har Hadse se Jan zindagi ki nikalne lagi hai meri

Vikrant Rajliwal dwara likhit.

Watch “एक खेल जिंदगी। (विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।)” on YouTube https://youtu.be/02TpemeSFsA

Leave a Reply

Required fields are marked *.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: