Author, Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal

Poetry, Shayari, Gazal, Satire, drama & Articles Written by Vikrant Rajliwal

July 2, 2019
Author, Writer, Poet And Dramatist Vikrant Rajliwal

no comments

आगामी ऑनलाइन कृतियां। // Upcoming Online Act’s.

Vikrantrajliwal.com And YouTube channel

Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation’s
Notifications!
आगामी ऑनलाइन कृतियां। // Upcoming
Online Acts

आपके मित्र विक्रांत राजलीवाल जी के द्वारा लिखित एक शुद्ध मनोरंजक साहित्य के पाठन और श्रवण करने के लिए उनके साथ जुड़े रहिए और उनकी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com और यूटयूब चैनल Kavi,Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal को सब्सक्राइब कीजिए।

Translated.

Stay in touch with them to read and listen to a pure entertaining literature written by your friend Vikrant Rajliwal and subscribe to their blog site vikrantrajliwal.com and YouTube channel Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal.

follow my blog site vikrantrajliwal.com & Subscribe my YouTube channel

आगामी ऑनलाइन कृतियाँ। Upcoming Online Acts.

1) आपकी अपनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित दर्दभरी दास्ताँ “पहली नज़र” का अपने YouTube चैनल Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal पर स्वयं के स्वरों के साथ प्रसारण करूँगा।

2) अपनी सक्रिय अत्यधिक विस्तृत दर्दभरी नज़्म श्रृंखला दास्ताँ के अंतर्गत अपनी द्वितीय (दूसरी) दर्दभरी नज़्म दास्ताँ “एक दीवाना” का आपके अपने ब्लॉग साइट पर प्रकाशन करूँगा।

3) अपनी सक्रिय अत्यधिक विस्तृत दर्दभरी नज़्म श्रृंखला दास्ताँ के अंर्तगत अपनी प्रथम (पहली) प्रकाशित दर्दभरी नज़्म दास्ताँ “एक इंतज़ार” का अपने YouTube चैनल पर स्वयं के स्वरों के साथ प्रसारण करूँगा।

4) अपने एक और सक्रिय ब्लॉग एक सत्य। को आगे बढ़ाते हुए स्वयं के जीवन का अत्यंत ही शुष्म अध्ययन करते हुए अंजाम (निष्कर्ष) तक पहुचना एव प्रकाशन करना।

👉 यहाँ आपसे कुछ वार्तालाप अवश्य करना चाहूंगा कि जैसा कि आपको ज्ञात है कि मैं अपने जीवन मैं अत्यधिक व्यवस्था के बावजूद बीते कुछ वर्षों से एक अत्यंत ही विस्तृत नाटक एव कहानी और भी कार्य कर रहा हु हालांकि आज से दो से अढ़ाई वर्ष पूर्व ही मैंने अपनी उस कहानी एव नाटक का लगग 90% कार्य पूर्ण कर लिया था। परन्तु प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी के कारण मैं अपनी उस प्रथम कहानी, एक नाटक पर कुछ खास और अधिक कार्य अभी तक नही कर सका हु। परंतु अपने उस अधूरे कार्य को भी आप सभी मित्रजनों एव परिजनों के आशीर्वाद से शीघ्र ही पूर्ण कर दूंगा।

यहाँ मैं आपको सूचित करना चाहूंगा कि बीते कुछ समय से एक विचार बारम्बार मेरे मस्तिक्ष में आ रहा था कि क्यों ना अपनी उस अधूरी कहानी, एक अत्यंत ही विस्तृत दर्दभरे नाटक पर कार्य करते हुए। आप सभी के लिए कुछ मनोरंजक लघु बाल कहानियां लिख कर आपके अपने इस ब्लॉग Vikrant Rajliwal ( Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation’s ) url address https://vikrantrajliwal.com पर प्रकाशित करि जाए! और उन लघु कहानियों का मैं स्वयं के स्वरों एव कहानी के उन महत्वपूर्ण भावों को स्वयं के स्वरों में पूर्णतः ढालने का प्रयत्न करते हुए आपके अपने YouTube चैनल Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal पर प्रसारित करू।

अंत मे आपसे मैं इतना ही कहना चाहूंगा कि आप अपने मित्र के कलम एव स्वरों पर विशवास करते हुए एव मुझे अपने उपरोक्त कार्यो में एक सफलता दिलवाने हेतु अपने आशीर्वाद से कृतिज्ञ कर दीजिए। साथ ही मेरी आगामी उन लघु कहानियों के अंतर्गत आप अपने पसन्द के विषय भी कॉमेंट बक्से में दर्ज करवा दीजिए। एव मैं अवश्य ही उन पर भीLogopit_1562038942505 कार्य करने का एक प्रयत्न अवश्य करूँगा।

धन्यवाद।

विक्रांत राजलीवाल।

02/07/2019 at 10:05am

Leave a Reply

Required fields are marked *.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: