Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal Creation's -स्वतंत्र लेखक-

काव्य-नज़्म, ग़ज़ल-गीत, व्यंग्य-किस्से, नाटक-कहानी-विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।-स्वतंत्र लेखक-

Mar 10, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

एक विचार। // An Thought.

बीते कुछ दिनों से एक विचार बार बार स्वम् के व्यक्तित्व के विपरीत स्वम् के व्यक्तित्व पर हावी हो रहा है कि बीते कुछ वर्षों के दौरान जिन ias के नोट्स को तैयार किया था उन्हें अपने ही हाथों से ज्वलित अग्नि के सुपुर्द्ध कर दो। जनता हु की यह विचार केवल क्षणिक है क्योंकि […]

Mar 10, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

एहसास // Feelings

वो जो कहते है उन्हें आजकल अच्छी कहानिया नही मिलती पढ़ने को, चलचित्र पर अदायगी करने एव करवाने को, जी जनाब यह भी एक सत्य है अत्यंत ही क्रूर के आजकल अच्छी कहानियों को भी कहा मिल पाते है सहज से प्रकाशक, पाठक एव प्रायोजक जो पहुचा सके उन्हें उनके वास्तविक हक़दार तक। और वो […]

Mar 10, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

एहसास // Feelings

वो जो कहते है उन्हें आजकल अच्छी कहानिया नही मिलती पढ़ने को, चलचित्र पर अदायगी करने एव करवाने को, जी जनाब यह भी एक सत्य है अत्यंत ही क्रूर के आजकल अच्छी कहानियों को भी कहा मिल पाते है सहज से प्रकाशक, पाठक एव प्रायोजक जो पहुचा सके उन्हें उनके वास्तविक हक़दार तक। और वो […]

Mar 6, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

🕳️ सत्य, संघर्ष एव परिवर्तन।

देश ( भारतवर्ष ) का मूड आजकल पूर्णतः चुनावी हो गया है क्या? कभी धर्म के नाम पर राजनीति तो कभी फ़ौज के नाम पर सियासत आजकल यही सबसे महत्वपूर्ण एक चुनावी मुद्दा उभरा कर सामने आया है! ऐसा होना भी चाहिए परन्तु यह भी ध्यान रहे कि 2019 के चुनाव केवल और केवल इन्ही […]

Feb 18, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

🕯शहीदों को श्रधांजलि *आतंकवाद के खिलाफ संकल्प* (एक भाव विभोर श्रद्धांजलि)

🙏 नमस्कार है हर भारतीय समेत इस संसार के प्रत्येक व्यक्ति एव संस्था को जो आज इस गमगिम एव शोकाकुल समय मे आतंक से पीड़ित हम भारतीयों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हुए है कल दिनांक 17/02/2019 के दिन हमारे स्थानीय क्षेत्र हरित विहार में *वीर शहीदों को श्रद्धांजलि* *आतंकवाद के खिलाफ संकल्प* […]

Feb 17, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

😠 बस! अब और नही।

जिन ग़द्दारों ने कश्मीर पर हमला कर के हमारे वीर सपूतों को, हमारे देशभक्त जवानों को शहीद कर दिया। वह कश्मीरी तो क्या इंसान कहलाने के भी लायक नही है। पाकिस्तान द्वारा संरक्षित जैश ए महामद के गुनाहों की सजा हम किसी भी बेगुनाह को कदापि नही देंगे। परन्तु जो उन देशद्रोहियों आतंकियो का समर्थन […]

Feb 15, 2019
Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal -स्वतंत्र लेखक-

no comments

🇮🇳 कश्मीर- पुलवामा।

कल कश्मीर के पुलवामा हमले में किस तरह 200 किलो बारूद एक आतंकी सरेआम ले कर देश के मान सम्मान के प्रतीक हमारे वीर जवानों तक पहुच जाता है। और मेरे देश के वीर जवानों को शहीद कर देता है। यह अपने आप मे अत्यंत भयावह है। अगर देश के सियासतदारों एव सुरक्षा एजेंसियों ने […]