रक्षा बंधन।

भाव-व्यवहार में है जो सबसे प्यारा, रक्षाबंधन का त्यौहार निराला। एक धागा, एक दुआ है जो, रिश्ता ये प्यार का ह्र्दय भाव से सबसे प्यारा।। हर नारी, हर एक कन्या, उनके हर एक आँचल से, बरसता अमृत है जो। वो ममता, वो स्नेह, मिलता है हर भाई को, एक आशीर्वाद अनमोल है जो।। खिल खिलौने,Continue reading “रक्षा बंधन।”

💥 Recovery Man Author Vikrant Rajliwal

💥
Dear Loved One’s,My First Introduction video is uploaded now!

Video link is mentioned in below!

https://youtu.be/oEdfhLIaUwE

Watch my video and Subscribe to our Channel.

https://youtu.be/oEdfhLIaUwE 🙏💖💖

💥 एक एहसास! सत्य से प्रेरित है जो। (विक्रांत राजलीवाल) ✍️

अक्सर कई बार कई चिरपरिचित एवं अलग अलग व्यक्तित्व के व्यक्ति अक्सर मुझ से पूछते है कि विक्रांत राजलीवाल जी आप अभी कुछ समय पूर्व तक अनपढ़ 2008 तक(10th pass) की श्रेणी में थे। और आपको 2004 मे लगभग 19 महीने तक पुनर्वासकेन्द्र (रिएबीटेशन सेंटर) में रहना पड़ा था! यहाँ वर्ष की वास्तविक स्थिति काContinue reading “💥 एक एहसास! सत्य से प्रेरित है जो। (विक्रांत राजलीवाल) ✍️”

🌹 कार्य, अनुभव एवं परिचय। ✍️(https://vikrantrajliwal.com)

नमस्कार मेरा नाम विक्रांत राजलीवाल है। मै हरित विहार बुराड़ी दिल्ली 84 भारत में रहता हूं। और मुझ को नई नई कहानियां, नाटक, सँवाद, किस्से, गीत, ग़ज़ल, नज़म, लिखना अत्यंत ही पसन्द है। और मैं अपने ह्रदय से इच्छुक हु की आपके साथ जुड़ सकूँ। एवं अपनी लेखन कला (कहानियां, सँवाद, नाटक, गीत ग़ज़ल) सेContinue reading “🌹 कार्य, अनुभव एवं परिचय। ✍️(https://vikrantrajliwal.com)”

मेरी कलम मेरी आवाज़।

यदि अपने से कोई भी नवन्तुक या प्रोफ़ेशनल कवि, शायर, ग़ज़लकार, व्यंग्यकार, कहानीकार, नाटककार मित्र जो अपनी रचनाओं के साथ समूह के प्रोजेक्ट्स पर भी परफॉर्मेंस प्रदान कर सकते है एवं सबसे अहम जो एक टीम एक साहितीयिक परिवार के रूप में मेरे साथ कार्य करना करने के इच्छुक है तो अभी व्हाट्सअप नम्बर। 91+9354948135Continue reading “मेरी कलम मेरी आवाज़।”

एक सूचना।

🌅 सुप्रभात मित्रों शीघ्र ही आपको मेरी ब्लॉग वेबसाइट पर प्रकाशित मेरी रचनाओँ एवं कहानी के संग्रह के साथ ही ; मेरी प्रथम विस्तृत कहानी पाठन हेतु उपलब्ध करवा दी जाएगी। जिसके शीर्षक से आपको शीघ्र ही सूचित कर दिया जाएगा। कृपया अपना अनोमोल प्रेम स्वरुप आशीर्वाद प्रदान कीजिए। कवि शायर एवं कहानीकार विक्रांत राजलीवाल।

💥 एक संकल्प एक योगदान।

मित्रों मेरे जीवन का केवल एकलौता मकसद यही है कि मैं अपने जीवन अनुभवो से उन मासूम बालको को एक उचित दिशा का ज्ञान करवा सकूँ जो आज भी किसी ना किसी नशे की गिरफ्त में फंस कर अपना उज्वल भविष्य अनजाने ही बर्बाद कर रहे है। काव्य शायरी नज़म ग़ज़ल दास्ताने लिखना एवं गानाContinue reading “💥 एक संकल्प एक योगदान।”

एक चोटिल एहसास। // A Hurt Feeling.

🙏🇮🇳 आज मैं यानी कि आपका मित्र एक साधारण से परिवार का भारतीय बालक स्वयँ के कुछ एहसासों को आप सभी प्रियजनो के साथ साँझा करने जा रहा हु। इस संसार मे प्रत्येक व्यक्ति का समय अत्यंत ही मूल्यवान होता है चाहे वह कोई सेलिब्रिटी हो या मेरे जैसा एक साधारण सा लेखक। और जबContinue reading “एक चोटिल एहसास। // A Hurt Feeling.”

💥 कर्म फल।

दम था बहुत उड़ने का ऊँची उड़ान उसमें, जब जब उड़ना चाहा उसने, तो हर बार आसमान सिमट कर सिमट गया। टूटे परों में थी जो जान कुछ बाकी, वक़्त की हर चाल पर बच ना सकी, बच गई फिर भी अधूरी जो, वो थी एक ख़्वाहिश, एक ख्वाहिश, एक ख़्वाहिश… एक ख़्वाहिश एक उन्मुक्तContinue reading “💥 कर्म फल।”

💥 चेतना। (नवीन काव्य)

हमनें खाया है दगा बहुत एतबार से यारों, दुआ है यही की अब कोई कभी अपनो से दगा ना करें। जो करें विशवास तो निभा देना उसका साथ, भूल से भी विशवास से किसी के अब कोई कभी घात ना करें।। हर ज़ख्म जज्बातों के दिल ही नही धड़कनों को भी तोड़ने जब लगें, वारContinue reading “💥 चेतना। (नवीन काव्य)”