Writer, Poet & Dramatist Vikrant Rajliwal Creation's -स्वतन्त्र लेखन-

Poetry, Kavya, Shayari, Sings, Satire, drama & Articles Written by Vikrant Rajliwal

May 5, 2019
Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation's

no comments

🇮🇳 राजनीति एव धर्म। // 🇮🇳 Politics and religion

🕯️ अभी खबरों के द्वारा ज्ञात हुआ कि कुछ चन्द देशद्रोहियों ने एक बार पुनः हिन्दू धर्म पर लांछन लगाते हुए समाज में एक भय का वातावरण उतपन करने का एक अत्यंत ही घिनोना प्रयास किया है। सत्य है राजनीति जब धर्म की आड़ में अपनी स्वार्थी रोटियां सेंकने पर विवश हो जाती है ना, […]

April 19, 2019
Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation's

no comments

💥 जय हनुमन्त। (With the video link of today’s YouTube poetry reading.)

जय हनुमन्त अति बलदाई। जन्म जन्म के दुख मिटाई।। देख तुन्हें हर दुष्ट है भागा। मिट जाता है हर घाव ताजा।। कौन है इस जग में तुमसा महान। आते हो तुम ही दुखियो के काम।। समीप ह्रदय है जवलित, तुम्हरा ही पवित्र उजाला। अंधकार पल भर में मलिनता मन की दूर कर डाला।। देख तुम्हे […]

March 15, 2019
Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation's

no comments

सत्य है।

आज सुबह की न्यूज़ से ज्ञात हुआ कि कल शाम को मुंबई फुटओवर ब्रिज अचानक से भरभराकर ढह गया। जिससे कई मुंबईकरों को, ना जाने कितने निर्दोष व्यक्तियों को अपने प्राणों को गवाना पड़ गया। सच है जब भी 21वी सदी में अपने भारतवर्ष का नाम इस प्रकार की शर्मनाक त्रास्ति से जुड़ते हुए न्यूज़ […]

February 19, 2019
Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation's

no comments

🦁 शौर्य एव वीरता के प्रतीक भारतीय। ( इतिहास से अब तक के विरो एव शहीदों को नमन:)

नमस्कार प्रिय पाठकों एव ह्रदय अज़ीज़ श्रुताओं, आज दिनांक 19 फरवरी रात्रि 8:00 बजे,*वीर राजा छत्रपति शिवाजी की जयंती* पर मैं आपका अपना मित्र ^कवि विक्रांत राजलीवाल^ आपके अपने YouTube चैनल *Kavi Vikrant Rajliwal* पर Live आ कर *वीर छत्रपति शिवाजी* को उनकी जयंती पर, उनकी असीम वीरता एव शौर्यता के सम्मान स्वरूप, अपने देश […]

January 30, 2019
Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation's

no comments

💥🙏 शत् शत् नमन: (महात्मा गांधी🇮🇳) / 💥🙏Warm Regards (Mahatma Gandhi🇮🇳)

“रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम। ईश्वर अलाह तेरे नाम सबको सम्मति दे भगवान”-लक्ष्माचर्या- आज गांधी जी की पुण्यतिथि पर मैं विक्रांत राजलीवाल उनको इस समस्त संसार मे उपस्थित उनके असंख्य अनुनायियों एव प्रेम करने वालो को साक्षी मान कर अपने ह्रदय स्वरूपी अपनी अंतरात्मा से उन्हें शत् शत् नमन: करता हु। उनके […]

November 13, 2018
Kavi, Shayar & Natakakar Vikrant Rajliwal Creation's

no comments

🕊 एक सूचना।

नमस्कार प्रिय पाठकों एव दिलाज़िज़ श्रुताओ, मित्रों जैसा कि मैंने आप सभी प्रिय प्रियजनों एव हिंदी भाषी साहित्य के प्रेमी पाठको से कहा था कि जल्द ही मैं आपका अपना एक साधारण सा क़लमकार एक स्वतन्त्र लेखक विक्रांत राजलीवाल अभी तक कि अपनी समस्त ब्लॉग साइट (wordpress, blogspot, tumblr) पर ऑनलाइन प्रकाशित सैकड़ो रचनाए, नज़्म, […]