Advertisements

My first song…Ek virahy geet

My first song lines….Ek virahy geet hai

(Seen hai premi bekhud rhe hai, ja fir bekhud jate hai. Ek toofani raat me tez hai ke beach premi dard se pukar uthta hai.)

Ruk ruk ruk ruk ruk ruk ae hwa
Sun sun sun sun sun sun tu sda
Mahobat ko teri bhula n sakenge
Na jinda rhe sakenge, na hum mar sakenge

Dard ae dil, tuz se duwa hum karenge
Aaine me dil ke, tuze dunda hum karenge

Ruk ruk ruk ruk ruk ruk ae hwa
Sun sun sun sun sun sun tu sada

Aa aa aa aa aa aa ae dilruba
Na ja ja ja ja ja ja tu hai kha

Yado ko teri mita n sakenge
Na mil hum sake to, duwa krenge

Judaai me teri, tadpa krenge

Ruk ruk ruk ruk ruk ruk ae hwa
Sun sun sun sun sun sun le sda

Jakhmo ko dil ke, si n hum sakenge
Na dwa hum krenge, n unko bhr sakenge

Fizao me suni, tnhaaio me aksar
Yado me apni, khwabo me aksar

Tadap ae dil, mila hum krenge

Ruk ruk ruk ruk ruk ruk ae hwa
Sun sun sun sun sun sun le sda

Lekh dwara Vikrant Rajliwal

# Hindi Poetry Shayari Story Article’s #

Advertisements

बंदिशे।

दिल की किताब पर, लिख दिया जो धड़कनो से अपने
उन शब्दो को, ज़िन्दगी, ज़िंदा एक नई आवाज अब देंगे।

भूल गया, जो तराने, ये ज़माना, खामोश अल्फाज़ो से अपने,

उन खामोशियो को, लव्ज़, दहाड़ती एक नई गूंज, अब देंगे।।

छु लेंगे आसमां, मग़रूर सितारों को भी झुका देंगे।
हर दरिया, वो आग का, कदमो से अपने बुझा देंगे।।

नसीब वो आरज़ू आखरी, खुद को जिंदा अब जला देंगे।
छुपी वो बग़ावत जिसमे, उन शोलो को अब भड़का देंगे।।

वक़्त चाहे ठहर भी जाए, हर चाल वो लम्हा बेगाना,
ठोकर से अपनी, जादू हक़ीक़त का, आईना दिखा देंगे।

हर नव्ज़, हर धड़कनो का धड़कनो से कुछ बतलाना,
नक़ाब चेहरे से, बन्दिशें धड़कनो से अपनी, अब हटा देंगे।।

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।

# Hindi Poetry, Shayari & Story Article’s # -writer Poet-Vikrant-Rajliwal-

 

 

 

 

 

 

 

 

 

ज़िन्दगी।

एक दिन सासो पर पहरा कोई लग जाएगा।
हर दर्द-दिल, नज़दीक से चेहरा दिख जाएगा।।

भूल जाएगा, ज़माना-अनछुई यादो को जब।
बेगाना दफ़न तन्हाई में कही हो जाएगा तब।।

समझना ख्वाब कोई अंजना, नज़र तुमको न आए जब
भूल जाना न करना याद, जान उसे कोई अफ़साना तब।।

करेगा फरियाद, दर्द ए ज़िंदगी है जो तेरा दीवाना।
तड़प ये ख़ामोशीया, तुम अब उसको भूल जाना।।

रूह मेरी, ज़िंदा है जिंदगी, हर एक लम्हा कोई तन्हाई।
ये जिस्म, कफ़न है आरज़ू, हर एक लम्हा कोई रुसवाई।।

पंछी है महोबत का, वख्त ये बेदर्द बहुत हरजाई।
छूट गया, वो चला गया, अब ये मौसम, ये बेवफाई।।

कोई तमना, कोई आरज़ू अधूरी, बाकी न रहने पाए।
चाल है हर यक़ीन ये अहसास अपने
धड़कती धड़कने, बन्द सिने में कोई, अब बचने न पाए।।

कोई इक़रार, हर अहसास, अधूरा निसान, बाकी न रहे जाए।
हाल है हर हक़ीक़त ये अहसास अपने
टूटा आईना, मतलबी यादे, अक्स अधूरा, अब बचने न पाए।।

हर धड़कन, एक अहसास है, मतलबी कोई यादे वो अपनी
हर एक याद, उन धड़कनो को अपनी, अब तुम भूल जाना।

हर वादा, एक यकीं है, जिंदगी का ज़िन्दगी से वो अपनी
हर यकी, वो अहसास धड़कनो का, अब तुम भूल जाना।।

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।

# Hindi Poetry Shayari Story Article’s-writer poet-Vikrant- #

 

 

 

 

एक तड़प।

हर गहराइयों से, ए महोबत, दिल की अपने
याद दीवाना, तुझ-को, हर एक पल करता है।

हर गज़ल, हर गीत, दर्द ए दिल, यादे तेरी
दीदार ए सनम, एक ज़माने से, दिल तड़पता है।।

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।
# Hindi Poetry, Shayari & Story
Article’s-writer poet-Vikrant- #FB_IMG_1499013068148

दिल-लगी।

FB_IMG_1499008594319न देख भर के, महोबत झूठी, मदहोश अपनी इन निगाहों में

भरा है दामन, जख्मो से ये मेरा

वाकिफ है हर चल-हुस्न से, नादां नही ये इश्क मेरा

असूल ए महोबत, वफ़ा सिख ला देती है

करती है महोबत, जब कोई बेवफ़ा

चीर के दिल-धड़कने, अपने दीवाने को बर्बाद करती है

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।

Hindi Poetry, Shayari & Story
Article’s-writer/poet-Vikrant-Rajliwal-

दिल से।

ज़िन्दगी ने सिखलाये है करीब से सबक-हालात, ज़िन्दगी के
मुझको

हर हालात ने दिखलाय है करीब से नकाब-चेहरे,ज़िन्दगी के
मुझको

हर चेहरे ने छुपाये है करीब से राज-नकाब हकीकत के
मुझ से

हर हकीकत ने दिखाए है करीब से चेहरे-ज़िन्दगी के
छुपे है जो नकाब मुझ से.. .

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।
#Hindi Poetry, Shayari & Story
Article’s-writer poet-Vikrant-Rajliwal-#FB_IMG_1499000423913

दुआ।

देखता हूँ, जब भी निसान, झुकी कमर,
चेहरे की वो झुर्रिया, बेसुमार जो उनकी।

देते है अक्सर तज़ुर्बा, वख्त पे जो मुझको
दिखती नही कमी, किसी बात में जो उनकी।।

दिया है धोखा, जब भी ज़माने ने जो मुझको
सम्भाला वख्त, देकर प्यार-दुलार ने जो उनकी।

हर मोड़ है ज़िन्दगी, आशीष माता-पिता मुझको
दुत्कार हर ठोकर, बैठी जो छुपाए महोबत उनकी।।

किया है तिरस्कार, एक नही कई बार,जो उनका
दिल ही नही, धड़कनो को भी, मजबूर किया है।

किया है वॉर सरेआम, मासूम जज्बातो पर ऐसा
बुढ़ा शरीर, वो रूह उनकी, जख्म अंदर दिया है।।

टूटे दिल से, हर बार, दुआ फिर भी उनके निकलती है
खुश रहे आबाद रहे, सकूँ-दिल, रोशन ये चिराग हमारा।

हर दुख तकलीफ़ से उसकी जान हमारी जो निकलती है
एक आह-ज़िन्दगी,भूलने न पाए,हिस्सा वो तन का हमारा।।

भूल जाए बूढे मां-बाप को चाहे औलाद मतलबी उनकी।
नही भूलते, नही टूटते, छुपे है रिश्ते, सासो में जो उनकी।।

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।

# Hindi Poetry, Shahari & Story Article’s #

 

 

 

 

 

 

 

 

तन्हा महोबत।

🎻तन्हा महोबत.. .💌

रात है चाँFB_IMG_1498912053131द से, धड़कनो में एक तन्हाई।
छुप गया है, सनम मेरा, काले इन बदलो में कही।।

दर्द ए दिल, दे रहा पुकार, सुनने वाला कोई नही।
खता जो हो गयी यार से, माफ़ करने वाला कोई नही।।

कत्ल दीवाने का हुस्न ने, बहुत ही मासूमियत से किया।
बिना खंज़र, जख्म दिल-धड़कनो
नज़रो को मदहोश अपनी, फ़ेर कर दिया।।

असूल ए महोबत, वफ़ा के सिखलाए नही जाते।
वफ़ा ए महोबत, सनम से है
बिना मतलब हक उस पर नही जताते।।

महोबत है ऐतबार ए सनम,जान भी जिस पर
निछावर कर देगा दीवाना।

रुसवाई है बगावत एक जिस मे,बन्द लबो को भी
सी देगा दीवाना।।

लेखन द्वारा विक्रांत राजलीवाल।

^Hindi Poetry, Shayari & Story Article’s^ view on tumblr

एक विशेष सूचना।

नमस्कार प्यारे मित्रो एव दिल से अजीज पाठको, यहाँ एक समस्या उतपन हो गयी है। ऐसा कोई यन्त्र नही मिल पा रहा, जिसके ज़रिये, अपनी आवाज़ को अपने इस ब्लॉग पर सीधे तौर से सांझा कर सको।

इसलिए काफी सोच विचार के उपरांत यह निर्णय तय किया गया है कि अब अपनी आवाज के साथ आप सभी के साथ, भविष्य में अपने द्वारा, अपने यू ट्यूब चैनल के जरिये एक उत्तम वौइस् रेकॉर्डर के जरिए जुड़ा जाए।

इसलिये आप सब की भावनाओ का सम्मान करते हुए, अपना औरआप सब का यह यू ट्यूब चैनल एक सही प्रोग्रामर के साथ जल्द से जल्द बनाने कोशिश भविष्य में जारी है।

आप सभी अपनी अपनी राय और विचार दे सकते है। आपकी हर राय और विचार पर, अवशय गौर किया जाएगा।

धन्यवाद।
लेखन द्वारा विक्रांत राजलिवाल।

Hindi Poetry,Shayari & Story Article’s