Advertisements

रहे आबाद ये दुनिया। (ग़ज़ल)

रहे महफूज़ ये दुनिया, घरों में रोक लो दुनिया, बचा लो खुद को क्रोना से, रहे आबाद ये दुनिया।

रहे आबाद ये दुनिया। (नई ग़ज़ल)

घिर आई घटा है जो, जहरीली जहरीली, दम घोट देगी वो, धड़कने रोक देगी वो, हो कर दूर दुनिया से, बचा लो ये दुनिया।।

वो खुली हवा, वो आज़ादी, जल्द ही लौट आएगी, देखना एक रोज़ जीत जाएगी, ये रुकी हुई दुनिया।

यकीं खुद पर रहे कायम, हँसी-मुस्कुराहट से होगी रौशन, हरा क्रोना को, ये हसीं दुनिया।।

ये कैसी हो चली दुनिया, संक्रमण से क्रोना के, अब डरने लगी ये दुनिया।

सांस लेते, कहि जाते, छूने से भी देखो, अब डरने लगी ये दुनिया।।

ये कैसी अनहोनी आ गई, यह सोच सोच, अब मरने लगी ये दुनिया।

कहि भूखे मरते गरीब, कहि जान खरते में, कहि दूर अपनो से, फंसी हुई ये दुनिया।।

ये दुनिया है जो ये दुनिया, हरा हर संक्रमण को, देखना जी जाएगी ये दुनिया।

एहसास मोहब्ब्त का, रहे कायम हमेशा, साथ अपनो से, महक जाएगी ये दुनिया।।

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

17 अप्रेल शुक्रवार रात्रि 12:57 बजे।

Advertisements

✍️ Author Vikrant Rajliwal (विक्रांत राजलीवाल।)🙏🎤

✍️ Author Vikrant Rajliwal. (विक्रांत राजलीवाल।) 🎤

कवि, शायर, उपन्यासकार, ग़ज़लकार-गीतकार, नाटककार।

कहानियां, नाटक, कविताए, ग़ज़ल, नज़म, गीत एवं नज़म दास्ताने लिखना एवं परफॉर्म करना मेरा पैसन (Passion) है मेरी जिंदगी है।

नाम: विक्रांत राजलीवाला।

एडुकेशन: ग्रेजुएट (दिल्ली यूनिवर्सिटी वर्ष 2013)

प्रथम प्रकाशित काव्य-नज़म की पुस्तक एहसास संयोग प्रकाशन घर शहादरा द्वारा प्रकाशित एवं ए वन मुद्रक द्वारा प्रिंटिड। वर्ष जनवरी 2016(जिसे उसी दौरान विश्व पुस्तक मेला में भी प्रदर्शित किया गया था।)

वर्ष 2017 से अब तक सेकड़ो सदाबहार ग़ज़ल, नज़म, काव्य कविताए, शेर उर्दू में, शेर हिंदी में। के साथ कुछ गीत
एवं
सबसे ख़ास दर्दभरी मोहब्ब्त की विस्तृत नज़म दास्तानों के साथ एक विस्तृत उपन्यास भोंडा। (एक कहानी जो दिल को छू जाए)

भोंडा। (एक कहानी जो दिल को छू जाए) अपनी लेखनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal on wordpress पर आपके पठन हेतु प्रकाशित है।

YouTube पर रिकॉर्डिड वीडियो भोंडा। (एक कहानी जो दिल को छू जाए।) का लिंक है।

… https://youtu.be/P8YjIu5S5cc
एवं बहुत से संवेदनशील लेख अपनी लेखनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर आपके पठन हेतु प्रकाशित किए है।

YouTube चेंनल Kavi & Shayar Vikrant Rajliwal
Url adress is https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A

अब तक कि कुछ खास FacebookLive videos का लिंक पता है।

1) https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=903529033412424&id=204032090116708

2) https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=1522177451271047&id=204032090116708

3) https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=221447672266776&id=204032090116708

4) https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=473747996541799&id=204032090116708

5) https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=436523326979688&id=204032090116708

✍️ अब तक मेरी कलम से लिखी गई एवं प्रकाशित कुछ अत्यधिक दर्दभरी मोहब्ब्त की विस्तृत और लघु नज़म दास्ताने इस प्रकार है।

1) एक इंतजार…मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

2) पहली नज़र। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

3) बेगुनाह मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)
4) मासूम मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)
5) एक दीवाना। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

6) पैगाम ए मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

7) सितमगर हसीना। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)
YOUTUBE LIVE https://youtu.be/F8TKFt7G4Us

8) अक्सर सोचता हूं तन्हा अंधेरी रातों में कि… (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)
YouTube live https://youtu.be/ElipaWVQOrw

9) धुंधलाता अक्स। दर्द ए जिंदगी की दर्दभरी नज़म दास्ताँ ( मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)
YouTube live https://youtu.be/_tKFIu1onQw

10) एक खेल जिंदगी। दर्द ए जिंदगी की दर्दभरी नज़म दास्ताँ (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)
YouTube live https://youtu.be/02TpemeSFsA

 यदि आप Poetry-Gazal के स्पॉन्सर है तो आप मेरी दर्दभरी रोमानी नज़म शायरी के रूप में लिखी गई मोहब्ब्त की विस्तृत दस्तानों एवं ग़ज़ल नज़म (काव्य कविताओं)शो ऑर्गनाइज कर सकते है।

मुझे पूरी उम्मीद है यह एक कामयाब शो रहेगा। उम्मीद है आप मेरे एहसास आप तक पहुच पा रहे है।

Email address is vikrant.rajliwala@gmail.com

Facebook page address ishttps://www.facebook.com/vikrantrajliwal85/

संपर्क सूत्र है।
व्हाट्सअप नम्बर है।
91+9354948135दिल्ली 84।

Like

Reply to Author Vikrant Rajliwal

💥 कुछ सेवा कार्य एवं कुछ नेक कार्य। 🙏/ 💥 Some service work and some noble work. 🙏 #KronaFree

नमस्कार, जैसा कि आप सभी को ज्ञात है कि सम्पूर्ण संसार क्रोना संक्रमण से भयभीत है और सम्पूर्ण भारत मे हम सभी जनता की भलाई के लिए लॉक डाउन लगा हुआ है। ऐसे में गरीब तबके के कामगार व्यक्तियो को कहि अधिक समस्या उत्पन्न हो गई है। इसीलिए आप से जहा तक हो सके अपने समर्थ के अनुसार उन्हें कुछ राशन सेवा उपलब्ध करवाने का प्रयास करें।
धन्यवाद।
विक्रांत राजलीवाल।

Hello, as is known to all of you that the whole world is afraid of Crona infection and all of India is locked up for the betterment of all our people.  In such a situation, more problems have arisen to the workers of poor sections.  Therefore, try to provide some ration service to them as far as possible according to your ability.

Thank you.

Vikrant Rajliwal

Other links of my work’s.

My latest blog; https://vikrantrajliwal.com/2020/04/15/-एक-दर्द।-क्रोना-एक-दर्द-अ/
My writing blog website is https://vikrantrajliwal.com
My Facebook page is https://www.facebook.com/vikrantrajliwal85/
URL of My YouTube channel is https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A
My official Twitter account address is Check out Author Vikrant Rajliwal -Kavi & Shayar- (@VikrantRajliwa2): https://twitter.com/VikrantRajliwa2?s=09

👥 एक दर्द। (क्रोना एक, दर्द अनेक।)/👥 A Pain. (Crona is a but pain many.)

हमने पूछा जो एक राहगीर से कि लॉक डाउन में क्या करते हो आज कल!

वह मुस्कुरा कर रोने लगा; बगल में उसके एक फावड़ा था जो, आँखों से बहते आँसुओ से बेबसी के उसके वो, बेबसी से भीगता रहा। 

जी हां वो मजदूर था मेरे देश का, जो दूर अपनो से तड़पते हुए , डर से क्रोना के साथ,

 प्रताड़ना महानगर में जो भुखमरी, बेरोजगारी एक दर्द जुदाई का अपनो से, 

अपने गांव का, बहते आँसुओ से बयां करता रहा। बहते आँसुओ से बयां करता रहा। बहते आँसुओ से बयां करता… रहा।

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

15 अप्रेल 2020 रात्रि 11:10 बजे।

A Pain! (Translated)

We asked a passer-by what do you do in lock down nowadays! 

He started smiling and crying;  He had a shovel next to him,

 With tears flowing from his eyes, he continued to get wet with his helplessness.

 Yes, he was the laborer of my country, who, while distancing himself from his family,

is trapped in the metropolis, with the fear of Crona, to bear the pain of a severe hunger,

unemployment and separation from his family members and the village. 

 Trying, who is no less than a cruel torture, he kept telling me with his flowing tears. 

 He kept talking with his flowing tears.  He kept talking to me with running tears.

Written by Vikrant Rajliwal.

15 April 2020 at night 11:10 pm

If there is an error in translation, then I apologize

मेरे प्रथम रैप (Rap Music) की चंद लाइंस। (Full song very soon!)

आज रैप म्यूजिक लिखने का एक प्रयत्न किया। अभी चंद ही लाइंस लिखी है जल्द ही सम्पूर्ण गाना आपके लिए पब्लिश्ड करूंगा।

रैप गीत।

अभी तूने कुछ देखा नही, अभी तूने कुछ जाना नही। मुझे ठीक से भी तूने अभी जो पहचाना नही।

चल हट, पीछे हट, बाजू हट।

हमने ही जमाने को जीना सिखलाया है, धड़कनों को उनकी धड़कना बतलाया है। झूठ ख़या, सच क्या, हमने ये जाना है।

चल हट, पीछे हट, बाजू हट।।

अनाड़ी ना समझ, खिलाड़ी है हम। हर खेल, हर चाल, हर बाजी-अनहोनियों से वाक़िफ़ है जमाने की हम। चल हट पीछे हट, बाजू हट।।।

Full song published very soon!Continue with next post!

आप आज के मेरे ट्विटर Live से जुड़ कर Live support प्रदान कीजिए।

मेरे ऑफीशियल ट्विटर लिंक है।

Check out Vikrant Rajliwal (@VikrantRajliwa2): https://twitter.com/VikrantRajliwa2?s=09

विक्रांत राजलीवाल। ✍️(एक लघु परिचय।) 🙏

कहानियां, नाटक, कविताए, ग़ज़ल, नज़म, गीत एवं नज़म दास्ताने लिखना एवं परफॉर्म करना मेरा पैसन (Passion) है।

एक लघु परिचय।

नाम: विक्रांत राजलीवाला।

एडुकेशन: ग्रेजुएट (दिल्ली यूनिवर्सिटी वर्ष 2013)

प्रथम प्रकाशित काव्य-नज़म की पुस्तक एहसास संयोग प्रकाशन घर शहादरा द्वारा प्रकाशित एवं ए वन मुद्रक द्वारा प्रिंटिड। वर्ष जनवरी 2016
(जिसे उसी दौरान विश्व पुस्तक मेला में भी प्रदर्शित किया गया था।)

वर्ष 2017 से अब तक सेकड़ो ग़ज़ल, नज़म, काव्य कविताए, शेर उर्दू में, शेर हिंदी में। के साथ कुछ गीत एवं बहुत सी दर्दभरी मोहब्ब्त की विस्तृत नज़म दास्तानों के साथ एक विस्तृत उपन्यास भोंडा। (एक कहानी जो दिल को छू जाए)

भोंडा। (एक कहानी जो दिल को छू जाए) अपनी लेखनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal on wordpress पर आपके पठन हेतु प्रकाशित है।

YouTube पर रिकॉर्डिड वीडियो भोंडा। (एक कहानी जो दिल को छू जाए।) का लिंक है।

🌹… https://youtu.be/P8YjIu5S5cc

एवं बहुत से संवेदनशील लेख अपनी लेखनी ब्लॉग साइट vikrantrajliwal.com पर आपके पठन हेतु प्रकाशित किए है।

YouTube चेंनल Kavi & Shayar Vikrant Rajliwal

Url adress is https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A

अब तक मेरी कलम से लिखी गई एवं प्रकाशित कुछ अत्यधिक दर्दभरी मोहब्ब्त की विस्तृत और लघु नज़म दास्ताने इस प्रकार है।

1) एक इंतजार…मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

2) पहली नज़र। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

3) बेगुनाह मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

4) मासूम मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

5) एक दीवाना। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

6) पैगाम ए मोहब्ब्त। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

7) सितमगर हसीना। (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

YOUTUBE LIVE https://youtu.be/F8TKFt7G4Us

8) अक्सर सोचता हूं तन्हा अंधेरी रातों में कि… (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

YouTube live https://youtu.be/ElipaWVQOrw

9) धुंधलाता अक्स। दर्द ए जिंदगी की दर्दभरी नज़म दास्ताँ ( मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

YouTube live https://youtu.be/_tKFIu1onQw

10) एक खेल जिंदगी। दर्द ए जिंदगी की दर्दभरी नज़म दास्ताँ (मेरी लेखनी ब्लॉग साइट पर प्रकाशित है।)

YouTube live https://youtu.be/02TpemeSFsA

🙏 यदि आप Poetry-Gazal के स्पॉन्सर है तो आप मेरी दर्दभरी रोमानी नज़म शायरी के रूप में लिखी गई मोहब्ब्त की विस्तृत दस्तानों एवं ग़ज़ल नज़म (काव्य कविताओं)शो ऑर्गनाइज कर सकते है।

मुझे पूरी उम्मीद है यह एक कामयाब शो रहेगा। उम्मीद है आप मेरे एहसास आप तक पहुच पा रहे है।

Email address is vikrant.rajliwala@gmail.com

Facebook page address is
https://www.facebook.com/vikrantrajliwal85/

संपर्क सूत्र है।

व्हाट्सअप नम्बर है।

91+9354948135
दिल्ली 84।

🕊️ सफ़र ए जिंदगानी। (🌹ग़ज़ल।) with YouTube video. Vikrant Rajliwal.

🕊️Safar e Zindagi. (🕊️ सफ़र ए जिंदगानी।) ग़ज़ल।  विक्रांत राजलीवाल की कलम से लिखी गई दर्द ए जिंदगानी को बयां करती हुई एक दर्दभरी रोमानी ग़ज़ल है। (YouTube video लिंक नीचे अंकित है।)

🕊️ सफ़र ए जिंदगानी। (🌹ग़ज़ल)

टूटते हर ख्वाबों से जिंदा है जो ख्वाब कई , रखा है उनको सलामत हमने कहि ।

हर सितम से टूटे दिल कि टूटी है धड़कन कई, रखा है उनको सलामत हमने कही।।

हर लम्हा जिनकी हिफाज़त हमने करि, कुछ बेरुखिया रुकी सी सांसे जो सलामत हममे कही।

हर रुके लम्हो से तड़पती, चाहते है दर्द कई , रुकी हर धड़कन में सलामत हममे कहि।।

आए सैलाब  जिंदगी में जो कभी, गए टूट जज्बातों से टकराकर हममे कहि।

बदला मौसम बदली फिजाएं, बदल गए हालात सब, 
जिंदगी के जो न बदले, ज़ख्म जज्बात हममे कहि।।

नही मालूम ये सफर, ये जिंदगी के रास्ते, चलते चलते बदल गए जो मुकाम जिंदगी के जो रास्ते।

मंजिलो का पता पूछते पूछते बदल गए, बदल गए सफर जो मुसाफ़िर बदल गए जो रास्ते ।।

स्वतन्त्र लेखक विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

YouTube video Link is Mention in below!

https://youtu.be/kS07DS6vKDc 🙏🌹❤️🕊️

आपकी अपनी ब्लॉग साइट का url पता नीचे अंकित है।

https://vikrantrajliwal.com

YouTube link is mentioned in below.

https://www.youtube.com/channel/UCs02SBNIYobdmY6Jeq0n73A

Facebook page address is mentioned in below.

https://www.facebook.com/vikrantrajliwal85/

विक्रांत राजलीवाल।
#Safar #E #Zindgani #VikrantRajliwal

🇮🇳 Vikrant Rajliwal (An Indian)

First of all health is healthy, your mental and physical health is your right.

Those who will be mentally and physically healthy, only then you will be able to discharge your life duties.

I have been feeling extremely mental stress for some time now or for some years, but now there is some relief from the love and blessings of all you lovers.

May you keep your love and blessings on your friend Vikrant Rajaliwal.

Written by Vikrant Rajliwal.

3 April 2020 evening 7:01 pm (translated)

🇮🇳 विक्रांत राजलीवाल। (एक भारतीय।)

सर्वप्रथम स्वास्थ्य स्व्स्थ हो आपका, मानसिक एवं शारीरिक स्वास्थ्य पर अधिकार है आपका।

जो होंगे मानसिक और शारीरिक रूप से स्वथ्य आप, तभी कर पाएंगे जीवन कर्तव्यों का आप अपने निर्वहन।।

बीते कुछ समय से या यूं कहें कि कुछ वर्षों से अत्यधिक मानसिक तनाव महसूस कर रहा था परन्तु आप सभी प्रेमी पाठकों के प्रेम एवं आशीर्वाद से अब कुछ आराम है।

अपना प्रेम एवं आशीर्वाद अपने मित्र विक्रांत राजलीवाल पर यू ही बनाए रखे।

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

3 अप्रेल 2020 सांझ 656 बजे।

👥 भय मुक्त क्रोना से। With #FacebookLive & #YouTube video. #StayHomeSafeHome

आओ करे पालन हम लॉक डाउन का, मात दे संक्रमण क्रोना को, पाए जीवन स्वास्थ्य हम अपना, पालन सावधानियों का हम करे।

धोएं हाथ बारम्बार हम अपने, स्वास्थ्य रहे, मस्त रहे,  फहराए विजय पताका हम क्रोना पर,  योग-ध्यान-प्राणायाम करें।।

स्टेटस क्रोना देख कर ना घबराना, दृढ़ संकल्प, स्वास्थ्य दिनचर्या से जीवन मे अपने आगे हमेशा बढ़ते जाना।

याद रहे देव भूमि भारत के है हम वासी, संस्कारी व्यक्तित्व, अनुशासित दिनचर्या से, मिलकर हमे क्रोना को हराना।।

जीत जाएंगे मार संक्रमण हम क्रोना, शंख-घण्टिया बजा-बजाकर, सात्विक वातावरण करें हम उतपन।

जोश-उमंग जीवन से अपने मिटने ना पाए, हरा क्रोना को हम स्वछता से आगे को बढ़ते जाए, नित्य दिन प्रतिदन।।

हौसला ना टूटने पाए, आस-पास, हम साथ साथ, करे सतर्क एक दूजे को, मिलकर संक्रमण से क्रोना के हमे लड़ना है।

लोकतंत्र के रक्षकों पर हो विशवास, जमखोरी-मारामारी, भय के वातावरण से हमे बचना है।।

विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

प्रथम प्रकाशित समय 26/3/2020 समय प्रातः 8:21 बजे। (पुनः प्रकाशित ) https://vikrantrajliwal.com

FacebookLive video link is mentioned in below!

https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=861667544353156&id=204032090116708?sfnsn=wiwspmo&extid=y6iUSrT8gDxTM04f&d=n&vh=e

YouTube video link is mentioned in below!

Follow my Facebook Page And Subscribe to my YouTube channel.