Advertisements

भय मुक्त क्रोना से। (विक्रांत राजलीवाल)

आओ करे पालन हम लॉक डाउन का, मात दे संक्रमण क्रोना को, पाए जीवन स्वास्थ्य हम अपना, पालन सावधानियों का हम करे। धोएं हाथ बारम्बार हम अपने, स्वास्थ्य रहे, मस्त रहे, फहराए विजय पताका हम क्रोना पर, योग-ध्यान-प्राणायाम करें।। स्टेटस क्रोना देख कर ना घबराना, दृढ़ संकल्प, स्वास्थ्य दिनचर्या से जीवन मे अपने आगे हमेशाContinue reading “भय मुक्त क्रोना से। (विक्रांत राजलीवाल)”

Advertisements

🎻 एक दर्द। (दर्दभरी नज़म) *पुनः प्रकाशित*

नही आती है नींद दीवाने को क्यों आज-कल। भूल गया है रंगीन हर ख़्वाब वो क्यों आज-कल।। हो गया है खुद से ही बेगाना वो क्यों आज-कल। रह गया है तन्हा भरे संसार में वो क्यों आज-कल।। लेता है रुसवा बेदर्द रातो में नाम वो किसका आज-कल। तड़पता है देख हाल ए दीवाना सा वोContinue reading “🎻 एक दर्द। (दर्दभरी नज़म) *पुनः प्रकाशित*”

🕊️ कुछ अनकहे से एहसास।/ 🕊️ Realize something untold.

मेरे साथ मेरे जीवन संघर्ष में जुड़े हुए आप सभी मित्रजनों का मैं हार्दिक अभिवंदन करता हु। आज मैं आपसे कुछ यूं ही ऐसे एहसासों को साँझा करना चाहूंगा जिनकी और कभी किसी का ध्यान नही जाता है जैसे जब आप एक अपरिपक्व उम्र में 16 वर्ष में अपने परिवार के मुखिया यानी कि अपनेContinue reading “🕊️ कुछ अनकहे से एहसास।/ 🕊️ Realize something untold.”

✍️ विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित शायरी…एक एहसास।

💌[ विषय एव 2 लाइन की शायरी।🌹3(कुछ का सेट) ] 🌹सुन कर धड़कने तेरी रुक गई सांसे, ठहर गई धड़कने मेरी हर एक। न दे आवाज ए साकी अब मुझ को तू मेरे नाम से, भूल गया हूं अपना नाम, घुला जहर सांसो में जो, मर गई आरज़ू मेरी अब हर एक।। विक्रांत राजलीवाल द्वाराContinue reading “✍️ विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित शायरी…एक एहसास।”

एहसास

💔 दर्द ए दिल की अपने कोई दवा अभी तक जो मुझे मिली नही। हर जख्म फट गए मेरे बेअसर हर मरहम को कर के खुद ही।। टूट कर मासूम एहसास हर लम्हा मेरे जो मरते गए; हर लम्हा ही हम टूटे एहसासों से जो टूटते गए। सितम ज़िंदगी के हंसते हुए हम सहते गए;Continue reading “एहसास”

🌹 सुलगते एहसास।

ना जिन्हें दिन को है सकूँ साँसों में; ना रातों को है आराम। हम है वो जो रहते है हर लम्हा लेकर धधकती धड़कनों में सुलगता एक अंगार।। विक्रांत राजलीवाल द्वारा लिखित।

💥 कर्म एवं कर्मफल। / 💥 Karma And Karma.

यदि आप स्वयं में सकरात्मक बदलाव उतपन्न करते हुए अपने जीवन में आत्मशांति का अनुभव प्राप्त करना चाहते है, तो आज और अभी से किसी भी एक महान व्यक्त्वि के व्यक्ति के जीवन अनुशाशन, एवं विचारों का अनुसरण करना प्रारंभ कर दीजिए। इस प्रकार से आप पाएंगे कि कुछ समय के उपरांत आप नकल सेContinue reading “💥 कर्म एवं कर्मफल। / 💥 Karma And Karma.”

कृपया अपने जीवन मूल्यों को पहचानिए। / Know The Value Of You Life.

नमस्कार प्रियजनों, वैसे तो मुझ को अपनी और आप सब की अपनी इस ब्लॉग साइट पर ही अपने विचारों को अपनी लेखनी के माध्यम द्वारा प्रस्तुत करना अधिक शांति प्रदान करवाता है। परन्तु कभी कभी आप भावुक हो कर अपनी भावनाओं बह जाते है। ऐसे ही बीते कुछ समय के दौरान मैंने अपने फेसबुक पेजContinue reading “कृपया अपने जीवन मूल्यों को पहचानिए। / Know The Value Of You Life.”

एहसास

हम लिखते है, हम गाते है, हम गीत खुशियों के गुनगुनाते है। साथ पल दो पल का नही, ये एहसास ह्रदय से खनखनाते है।। मौसमो की बारिश नही, ये अश्क़, यादों की एक निशानी है। हर पल एहसासो को अपने संजोए, हर दर्द, हर दास्ताँ, मोहब्ब्त की एक कहानी है।। आज फिर से तेरी यादContinue reading “एहसास”

Watch “नंगे भ्रष्टाचारी ( Poetry by Vikrant Rajliwal )” on YouTube ^read Poerty and Video link^

नंगे भ्रष्टाचारी काव्य कविता के जरिए श्री विक्रांत राजलीवाल ने उन भ्रष्टाचारी व्यक्तियों एव संगठनों पर एक प्रहार करने का प्रयत्न किया है जो आज भी हमारी मातृभूमि भारतवर्ष के उज्ज्वल इतिहास पर अपनी भ्रष्टाचारी प्रवर्ति के जरिए एक कलंक मलते हुए गरीब एवं ईमानदार व्यक्तियोँ का शोषण कर रहे है। आशा करता हु आपContinue reading “Watch “नंगे भ्रष्टाचारी ( Poetry by Vikrant Rajliwal )” on YouTube ^read Poerty and Video link^”